Breaking News in Hindi
Header Banner
ब्रेकिंग
डॉ. मनोज कुमार गुप्ता अज्ञात वाहन की टक्कर से गौ माता की घटना स्थल पर ही दर्दनाक मौत ! माध्यमिक में विरोध के बीच बेसिक शिक्षा में भी समर कैंप के निर्देश जारी ! बेसिक शिक्षा में पहली बार जारी हुआ शैक्षिक कैलेंडर, हर महीने का पाठ्यक्रम निर्धारित, चार बार होगा छा... फेसबुक पर अपमानजनक टिपण्णी करना पड़ा महंगा ! माध्यमिक विद्यालयों की लाइब्रेरी में बनेंगे रीडिंग कॉर्नर ! अन्तर्जनपदीय 02 शातिर वाहन चोरों को किया गिरफ्तार ! पैसे के लालच में अनैतिक पत्रकारिता में लिप्त ! कई ज़िलों में मतदान के 10 दिन बाद भी नही पहुंच सका बैंक खाते में निर्वाचन ड्यूटी का भत्ता ! मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आज फरेंदा मे जनसभा संपन्न !

दोने पत्तल का महत्व क्या आप जानते हैं नहीं तो जानें यह लाभकारी गुण जो आपको और पर्यावरण दोनों को तन्दरुस्त रखते हैं !

0 312

स्वास्थ्य सेहत : स्पेशल डेस्क
29 जुलाई 2023 : एक बहुत छोटी सी बात है पर हमने उसे विस्मृत कर दिया हमारी भोजन संस्कृति, इस भोजन संस्कृति में बैठकर खाना और उस भोजन को “दोने पत्तल” पर परोसने का बड़ा महत्व था कोई भी मांगलिक कार्य हो उस समय भोजन एक पंक्ति में बैठकर खाया जाता था और वो भोजन पत्तल पर परोसा जाता था जो विभिन्न प्रकार की वनस्पति के पत्तो से निर्मित होती थी ।

क्या हमने कभी जानने की कोशिश की कि ये भोजन पत्तल पर परोसकर ही क्यो खाया जाता था ? नही क्योकि हम उस महत्व को जानते तो देश मे कभी ये “बुफे” जैसी खड़े रहकर भोजन करने की संस्कृति आ ही नही पाती ।
जैसा कि हम जानते है पत्तले अनेक प्रकार के पेड़ो के पत्तों से बनाई जा सकती है इसलिए अलग-अलग पत्तों से बनी पत्तलों में गुण भी अलग-अलग होते है । तो आइए जानते है कि कौन से पत्तों से बनी पत्तल में भोजन करने से क्या फायदा होता है ?

* लकवा से पीड़ित व्यक्ति को अमलतास के पत्तों से बनी पत्तल पर भोजन करना फायदेमंद होता है ।
* जिन लोगों को जोड़ो के दर्द की समस्या है, उन्हें करंज के पत्तों से बनी पत्तल पर भोजन करना चाहिए ।
* जिनकी मानसिक स्थिति सही नहीं होती है, उन्हें पीपल के पत्तों से बनी पत्तल पर भोजन करना चाहिए ।
* पलाश के पत्तों से बनी पत्तल में भोजन करने से खून साफ होता है और बवासीर के रोग में भी फायदा मिलता है ।
* केले के पत्ते पर भोजन करना तो सबसे शुभ माना जाता है, इसमें बहुत से ऐसे तत्व होते है जो हमें अनेक बीमारियों से भी सुरक्षित रखते है ।
* पत्तल में भोजन करने से पर्यावरण भी प्रदूषित नहीं होता है क्योंकि पत्तले आसानी से नष्ट हो जाती है ।
* पत्तलों के नष्ट होने के बाद जो खाद बनती है वो खेती के लिए बहुत लाभदायक होती है ।

पत्तले प्राकतिक रूप से स्वच्छ होती है इसलिए इस पर भोजन करने से हमारे शरीर को किसी भी प्रकार की हानि नहीं होती है ।
अगर हम पत्तलों का अधिक से अधिक उपयोग करेंगे तो गांव के लोगों को रोजगार भी अधिक मिलेगा क्योंकि पेड़ सबसे ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रो में ही पाये जाते है ।

* अगर पत्तलों की मांग बढ़ेगी तो लोग पेड़ भी ज्यादा लगायेंगे जिससे प्रदूषण कम होगा । डिस्पोजल के कारण जो हमारी मिट्टी, नदियों, तालाबों में प्रदूषण फैल रहा है, पत्तल के अधिक उपयोग से वह कम हो जायेगा ।

* जो मासूम जानवर इन प्लास्टिक को खाने से बीमार हो जाते है या फिर मर जाते है वे भी सुरक्षित हो जायेंगे, क्योंकि अगर कोई जानवर पत्तलों को खा भी लेता है तो इससे उन्हें कोई नुकसान नहीं होगा ।

सबसे बड़ी बात पत्तले, डिस्पोजल से बहुत सस्ती भी होती है ।
ये बदलाव आप और हम ही ला सकते है अपनी संस्कृति को अपनाने से हम छोटे नही हो जाएंगे बल्कि हमे इस बात का गर्व होना चाहिए कि हम हमारी संस्कृति का विश्व मे कोई सानी नही है ।

*हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे –*

https://chat.whatsapp.com/G7IlBXXAIB11028opPuFPc

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आदिपुरुष फिल्म पर प्रतिबंध लगाया जाए – भुवनेश आधुनिक     |     रेलवे आरक्षण सुविधा बाधित होने से यात्रियों को उठानी पड़ेगी परेशानी !     |     फर्जी SDM बनकर मिलता था अधिकारियों से ! हुआ गिरफ्तार !     |     चाइनीज मांझा बना जी का जंजाल, गर्दन कटने से युवक की हालत नाजुक !     |     मोमबत्ती से घर में लगी आग, मासूम बच्ची की हुई जलकर मौत !     |     अलीगढ़ विकास प्राधिकरण के बुल्डोजर ने 15 बीघा जमींन को खाली कराया !     |     दिल्ली में बिपरजॉय का असर, आज फिर बादल बरसने से गिरेगा तापमान ! यूपी को भी राहत !     |     अखिलेश यादव ने उठाए प्रदेश कानून व्यवस्था पर सवाल !     |     बिपरजॉय करेगा चारधाम यात्रा को प्रभावित, यात्रियों को उठानी पड़ सकती है परेशानी !     |     9 वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित विशाल जनसभा कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया !     |     डॉ. मनोज कुमार गुप्ता     |     अज्ञात वाहन की टक्कर से गौ माता की घटना स्थल पर ही दर्दनाक मौत !     |     माध्यमिक में विरोध के बीच बेसिक शिक्षा में भी समर कैंप के निर्देश जारी !     |     बेसिक शिक्षा में पहली बार जारी हुआ शैक्षिक कैलेंडर, हर महीने का पाठ्यक्रम निर्धारित, चार बार होगा छात्रों का मूल्यांकन !     |     फेसबुक पर अपमानजनक टिपण्णी करना पड़ा महंगा !     |     माध्यमिक विद्यालयों की लाइब्रेरी में बनेंगे रीडिंग कॉर्नर !     |     अन्तर्जनपदीय 02 शातिर वाहन चोरों को किया गिरफ्तार !     |     पैसे के लालच में अनैतिक पत्रकारिता में लिप्त !     |     कई ज़िलों में मतदान के 10 दिन बाद भी नही पहुंच सका बैंक खाते में निर्वाचन ड्यूटी का भत्ता !     |     मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आज फरेंदा मे जनसभा संपन्न !     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9410378878