Breaking News in Hindi
Header Banner
ब्रेकिंग
गुलाटी जी ने गहरे नालें में गिरे गौवंश को बचाया ! IGRS पर उच्च शिक्षा की शिकायतों का अंबार, निस्तारण न होने से बढ़ी कतार ! परख पोर्टल से होगा माध्यमिक विद्यालयों का निरीक्षण, 40 बिंदुओं पर होगी आख्या अपलोड ! सभी विश्वविद्यालय 21 दिनों में जारी करें परीक्षा परिणाम, राज्यपाल ने दिया अल्टीमेटम ! NTPC शक्ति नगर (सिंगरौली) में बालिका सशक्तीकरण अभियान-2024 कार्यशाला का भव्य उद्घाटन ! मदर्स डे पर आधारित मॉम्स ऑफ इंडिया का हुआ आयोजन ! देशी तमंचा 315 बोर व 01 अदद जिन्दा कारतूस के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तार ! अनपरा पुलिस ने एक देशी तमंचा 315 बोर व 3 कारतूस 315 बोर तथा एक चोरी के मोबाइल के साथ अभियुक्त को किय... NET के आएंगे तीन परिणाम, फेल अभ्यर्थी भी कर सकेंगे PhD ! सिपाही भर्ती परीक्षा की तारीख तय होने का फर्जी पत्र प्रसारित !

क्या CrPC की धारा 156(3) के तहत लोक सेवक के खिलाफ जांच का आदेश देने के लिए मंजूरी की आवश्यकता है ? सुप्रीम कोर्ट ने लंबित मामले में शीघ्र निर्णय करने को कहा !

0 64

खास खबर : SVT नई दिल्ली 
17 अप्रैल 2024 : सुप्रीम कोर्ट की दो-जजों की पीठ ने इस मुद्दे पर शीघ्र निर्णय लेने का आह्वान किया कि क्या सीआरपीसी की धारा 156(3) के अनुसार किसी लोक सेवक के खिलाफ जांच के लिए शिकायत अग्रेषित करने के लिए मजिस्ट्रेट के लिए पूर्व मंजूरी अनिवार्य है । इस मुद्दे को 2018 में मंजू सुराणा बनाम सुनील अरोड़ा मामले में एक बड़ी पीठ को भेजा गया ।
जस्टिस सीटी रविकुमार और जस्टिस राजेश बिंदल की खंडपीठ ने वर्तमान मामले में यह देखने के बाद कि यह मुद्दा व्यापक प्रासंगिकता का है और कई मामलों में बार-बार उठ रहा है, कहा कि “संदर्भित प्रश्न पर पहले के निर्णय की आवश्यकता है ।”

खंडपीठ ने कहा,
“मंजू सुराणा (सुप्रा) के फैसले से पता चलेगा कि मामले 27.3.2018 को बड़ी बेंच को भेजे गए। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि इसमें शामिल प्रश्न प्रासंगिकता का मामला है और ऐसे मुद्दे अक्सर अदालतों के समक्ष विचार के लिए उठते हैं, हम इस पर विचार कर रहे हैं विचार करें कि संदर्भित प्रश्न पर पूर्व निर्णय अपेक्षित है। रजिस्ट्री को निर्देश दिया जाता है कि वह इन मामलों को उचित आदेश के लिए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के समक्ष रखे ।”

खंडपीठ ने प्रथम दृष्टया यह भी विचार व्यक्त किया कि दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 156(3) के अनुसार मजिस्ट्रेट किसी शिकायत को पुलिस जांच के लिए अग्रेषित करते समय उस पर संज्ञान नहीं ले रहा था ।

खंडपीठ ने आगे कहा,
“हमारा मानना है कि सीआरपीसी की धारा 156(3), 173(2), 190, 200, 202, 203 और 204 के तहत प्रावधानों की स्कैनिंग से प्रथम दृष्टया पता चलेगा कि जांच का निर्देश देते हुए और अग्रेषित करते हुए शिकायत पर, मजिस्ट्रेट वास्तव में संज्ञान नहीं ले रहे हैं ।”

हालांकि, खंडपीठ ने मामले पर आगे बढ़ने से परहेज किया, क्योंकि संदर्भ बड़ी पीठ के समक्ष लंबित है । वर्तमान अपील को भी मंजू सुराणा मामले के साथ संलग्न करने का निर्देश दिया गया ।

मंजू सुराणा केस में क्या हुआ !

जस्टिस जे चेलमेश्वर और जस्टिस एसके कौल की दो-जजों की पीठ ने अनिल कुमार बनाम एमके अयप्पा मामले में समन्वय पीठ के 2013 के फैसले पर संदेह जताया, जिसमें कहा गया कि मजिस्ट्रेट के खिलाफ शिकायत पर जांच का आदेश पारित करने के लिए सरकार की पूर्व मंजूरी आवश्यक है ।
इस बात से सहमत होते हुए कि मजिस्ट्रेट / विशेष न्यायाधीश (भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत) सीआरपीसी की धारा 156(3) के तहत आदेश पारित करते समय शिकायत का संज्ञान नहीं ले रहे थे, अदालत ने अनिल कुमार के मामले में माना कि सीआरपीसी की धारा 156(3) की शक्ति के प्रयोग के लिए मंजूरी आवश्यक है ।

कोर्ट ने अनिल कुमार मामले में कहा था,
“एक बार जब यह पता चलता है कि कोई पिछली मंजूरी नहीं थी, जैसा कि पहले से ही यहां उल्लिखित विभिन्न निर्णयों में संकेत दिया गया तो मजिस्ट्रेट सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत शक्तियों का उपयोग करते हुए लोक सेवक के खिलाफ जांच का आदेश नहीं दे सकता ।”

मंजू सुराणा मामले में कोर्ट ने पूछा,
“क्या यह कहा जा सकता है कि पी.सी. एक्ट की धारा 19(1) के कारण सीआरपीसी की धारा 156(3) के तहत जांच का दायरा कार्रवाई में से एक माना जा सकता है ? ‘संज्ञान’ के लिए लोक सेवक के मामले में पूर्व मंजूरी की आवश्यकता होती है ?”

यह देखते हुए कि इस मुद्दे पर एक आधिकारिक घोषणा की आवश्यकता है, मामले को बड़ी पीठ के पास भेज दिया गया ।

संदर्भ के लिए प्रश्न इस प्रकार तैयार किया गया:
“क्या आपराधिक प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 156(3) के तहत जांच प्रक्रिया शुरू करने से पहले किसी लोक सेवक के संबंध में भ्रष्टाचार के आरोप के लिए मुकदमा चलाने की पूर्व मंजूरी आवश्यक है ।”

केस टाइटल : शमीम खान बनाम देबाशीष चक्रवर्ती और अन्य

*महत्वपूर्ण सूचना* 📢

*”स्वर विद्रोह टाइम्स”* का व्हाट्सएप पर अधिकृत चैनल उपलब्ध है, चैनल से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर फॉलो करे –

https://whatsapp.com/channel/0029Va9Ll505q08WpNIJyB2G010

*”भारत संरक्षण पार्टी (PIP)”* के WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे –*

https://chat.whatsapp.com/D7G2VrWYHin3abyqi0NsUM

*”स्वर विद्रोह टाइम्स”*

भारत का सबसे तेज उभरता हुआ न्यूज़ नेटवर्क देश के सभी राज्यों, जिला, नगर एवं ब्लॉक में रिपोर्टर की नियुक्ति कर रहा है ।

~ विज्ञापनों में 100% तक कमीशन / रिफण्ड ! 💰
~ Super Fast Updation ⌛
~ अधिकतम 7 कार्यदिवस में प्राप्त करे अपनी रिपोर्टर किट 🎤🗓️

इच्छुक व्यक्ति अतिशीघ्र संपर्क करें 👨🏻‍💻🧑🏻‍💻👩🏻‍💻

☎️ Phone : 0594-7350540 & 0594-7355059

📞 WLL Phone : +91 94129 17922

💼 Official Whatsapp : +91 96394 97030

📧 Official Email : info@swarvidrohtimes.in
📩 Alternate Email : swarvidrohtimes@gmail.com

*“स्वर विद्रोह टाइम्स” की न्यूज़ देखने के लिए लिंक पर क्लिक करे -*

*News Portal* : https://swarvidrohtimes.in/ & https://swarvidrohtimes.com/

*YouTube Channel* : https://youtube.com/channel/UC7gEfUA_lFFjHR6jmpvHQGA

*Koo* : https://www.kooapp.com/profile/swarvidrohtimes

*Facebook Profile* : https://www.facebook.com/profile.php?id=100076756535892

*Facebook Page* : https://www.facebook.com/swarvidrohtimes/

*Kutumb App* : https://kutumb.app/swar-vidroh-times

*Twitter* : https://twitter.com/SwarTimes

*Instagram* : https://www.instagram.com/swarvidroh/

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आदिपुरुष फिल्म पर प्रतिबंध लगाया जाए – भुवनेश आधुनिक     |     रेलवे आरक्षण सुविधा बाधित होने से यात्रियों को उठानी पड़ेगी परेशानी !     |     फर्जी SDM बनकर मिलता था अधिकारियों से ! हुआ गिरफ्तार !     |     चाइनीज मांझा बना जी का जंजाल, गर्दन कटने से युवक की हालत नाजुक !     |     मोमबत्ती से घर में लगी आग, मासूम बच्ची की हुई जलकर मौत !     |     अलीगढ़ विकास प्राधिकरण के बुल्डोजर ने 15 बीघा जमींन को खाली कराया !     |     दिल्ली में बिपरजॉय का असर, आज फिर बादल बरसने से गिरेगा तापमान ! यूपी को भी राहत !     |     अखिलेश यादव ने उठाए प्रदेश कानून व्यवस्था पर सवाल !     |     बिपरजॉय करेगा चारधाम यात्रा को प्रभावित, यात्रियों को उठानी पड़ सकती है परेशानी !     |     9 वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित विशाल जनसभा कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया !     |     गुलाटी जी ने गहरे नालें में गिरे गौवंश को बचाया !     |     IGRS पर उच्च शिक्षा की शिकायतों का अंबार, निस्तारण न होने से बढ़ी कतार !     |     परख पोर्टल से होगा माध्यमिक विद्यालयों का निरीक्षण, 40 बिंदुओं पर होगी आख्या अपलोड !     |     सभी विश्वविद्यालय 21 दिनों में जारी करें परीक्षा परिणाम, राज्यपाल ने दिया अल्टीमेटम !     |     NTPC शक्ति नगर (सिंगरौली) में बालिका सशक्तीकरण अभियान-2024 कार्यशाला का भव्य उद्घाटन !     |     मदर्स डे पर आधारित मॉम्स ऑफ इंडिया का हुआ आयोजन !     |     देशी तमंचा 315 बोर व 01 अदद जिन्दा कारतूस के साथ एक अभियुक्त गिरफ्तार !     |     अनपरा पुलिस ने एक देशी तमंचा 315 बोर व 3 कारतूस 315 बोर तथा एक चोरी के मोबाइल के साथ अभियुक्त को किया गिरफ्तार !     |     NET के आएंगे तीन परिणाम, फेल अभ्यर्थी भी कर सकेंगे PhD !     |     सिपाही भर्ती परीक्षा की तारीख तय होने का फर्जी पत्र प्रसारित !     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9410378878